E- janganana 2022-23 : ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, E- Census एप्लीकेशन फॉर्म

E- janganana 2022-23 – जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं government द्वारा सभी सरकारी सेवाओं एवं प्रक्रियाओं का डिजिटलीकरण किया जा रहा है। सरकार द्वारा अब जनगणना को भी digital माध्यम से करने का निर्णय लिया गया है। जिसके लिए सरकार द्वारा ई जनगणना योजना शुरू की गई है। इस article के माध्यम से आपको ई जनगणना स्कीम का पूरा ब्यौरा प्राप्त होगा। आप इस article को पढ़कर E- janganana 2022 का उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन करने की प्रक्रिया आदि से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकेंगे। तो यदि आप ई जनगणना योजना 2022-23 का पूरा ब्यौरा प्राप्त करने में रुचि रखते हैं तो आपसे निवेदन है कि आप हमारे इस article को अंत तक पढ़े।

E- janganana

E- janganana – Overview

गृह मंत्री अमित शाह द्वारा जनगणना को लेकर एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। भारत सरकार द्वारा जनगणना को अब technology से जोड़ा जाएगा। अब सरकार द्वारा E- janganana की जाएगी। जो कि digital माध्यम से होगी। साल 2024 तक प्रत्येक जन्म और मृत्यु को जनगणना से जोड़ दिया जाएगा। जिससे कि जनगणना का काम automatic तरीके से update हो जाएगा। जनगणना करने के लिए सरकार द्वारा एक software launch किया जाएगा। डिजिटल माध्यम से जनगणना करने से अगले 25 सालो तक के लिए नीतियां बनाई जा सकेंगी। भारत में प्रत्येक 10 साल में जनगणना की जाती है।

आखिरी बार यह जनगणना साल 2011 में की गई थी। वर्ष 2021 में जनगणना होनी थी लेकिन coronavirus संक्रमण के कारण यह कार्य नहीं हुआ। सरकार द्वारा ई जनगणना करने की घोषणा आसाम में डायरेक्टरेट ऑफ सेंसस ऑपरेशन बिल्डिंग को शुरू करते समय गृह मंत्री अमित शाह जी के द्वारा किया गया। सरकार द्वारा अलग अलग सरकारी विभागों से इस जनगणना के कार्य में मदद ली जाएगी। देश के लगभग 50% नागरिक mobile application के माध्यम से खुद क्वेश्चन का जवाब दे सकते हैं। जिससे जनगणना करने में मदद प्राप्त होगी।

योजना का नामE- janganana
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यडिजिटल माध्यम से जनगणना करना
श्रेणीsarkari yojana
किसने आरंभ कीभारत सरकार
साल2022
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी

ई – जनगणना का उद्देश्य

E- janganana का मुख्य उद्देश्य digital माध्यम से जनगणना कराना है। जिससे कि ई जनगणना अच्छे तरीके से कराई जा सके। अब सरकारी कर्मचारियों को जनगणना करने के लिए घर घर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। देश के नागरिक खुद अपने smartphone के माध्यम से जनगणना कर सकेंगे। इससे समय और पैसे दोनों की बचत होगी तथा प्रणाली में पारदर्शिता भी सुनिश्चित की जा सकेगी। यह योजना देश के नागरिकों के जीवन स्तर को सुधारने में कारगर साबित होगी। इसके अलावा E- janganana के माध्यम से देश के नागरिक सशक्त एवं आत्मनिर्भर भी बनेंगे।

पात्रता तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • Candidate भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी आदि।

ई – जनगणना के लाभ तथा विशेषताएं

  • गृह मंत्री अमित शाह द्वारा जनगणना को लेकर एक जरूरी निर्णय लिया गया है।
  • भारत सरकार द्वारा जनगणना को अब technology से जोड़ा जाएगा।
  • अब सरकार द्वारा ई जनगणना की जाएगी।
  • जो कि digital माध्यम से होगी।
  • साल 2024 तक प्रत्येक जन्म और मृत्यु को जनगणना से जोड़ा जाएगा।
  • जिससे कि जनगणना का काम ऑटोमेटिक तरीके से update हो जाएगा।
  • जनगणना करने के लिए सरकार द्वारा एक software launch किया जाएगा।
  • Digital माध्यम से जनगणना करने से अगले 25 सालो तक के लिए नीतियां बनाई जा सकेंगी।
  • सरकार द्वारा ई जनगणना करने की शुरुआत आसाम में डायरेक्टरेट ऑफ सेंसस ऑपरेशन बिल्डिंग का उद्घाटन करते समय गृह मंत्री अमित शाह जी के द्वारा किया गया।
  • सरकार द्वारा अलग अलग सरकारी विभागों से इस जनगणना के कार्य में मदद ली जाएगी।
  • देश के लगभग 50% नागरिक मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से खुद question का जवाब दे सकते हैं।
  • जिससे जनगणना करने में हेल्प प्राप्त होगी।

ई-जनगणना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

अभी सरकार द्वारा केवल E- janganana करने की शुरुआत की गई है। जल्द सरकार द्वारा इसके लिए official website एवं mobile app लांच किया जाएगा। जैसे ही सरकार ई जनगणना के अंतर्गत apply से संबंधित कोई भी जानकारी प्रदान करती है हम आपको अपने इस article के माध्यम से जरूर बताएंगे। तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख से जुड़े रहे।

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *